Tue. Oct 15th, 2019

पर्यावरण हित में सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग पर लगी रोक

AJ डेस्क: सरकार पर्यावरण को बचाने के लिए 2 अक्तूबर यानी गांधी जयंती से सिंगल यूज प्लास्टिक को बैन करने जा रही है। यानी इसके बाद सिंगल यूज प्लास्टिक के सामानों का इस्तेमाल करना बैन होगा। सिंगल यूज प्लास्टिक से पर्यावरण को होने वाले नुकसान को रोकना है तो सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल को रोकना होगा। लेकिन इससे पहले यह जानना जरूरी है कि सिंगल यूज प्लास्टिक है क्या। कौन कौन सा सामान सिंगल यूज प्लास्टिक से बना है।

 

 

 

 

सबसे पहले जानते हैं कि सिंगल यूज प्लास्टिक है क्या। दरअसल प्लास्टिक कई माइक्रॉन में बनता है। लेकिन 40 माइक्रोमीटर (माइक्रॉन) या उससे कम स्तर के प्लास्टिक को सिंगल यूज प्लास्टिक कहते हैं। प्लास्टिक से बने ऐसे उत्पाद एक ही बार उपयोग में लाए जा सकते हैं औऱ इनको रिसाइकिल भी नहीं किया जा सकता। ये पर्यावरण में   ही रहेंगे और इनका नाश भी संभव नहीं है। ये पर्यावरण के लिए सबसे बड़ा खतरा है और इसी के चलते सरकार सिंगल यूज प्लास्टिक को बैन करने जा रही है।

 

 

आइए जानते हैं कि रोजमर्रा के कौन कौन से सामान ऐसे हैं जो सिंगल यूज प्लास्टिक की श्रेणी में आते हैं।

-सब्जी की पतली वाली पन्नी, जो आप सब्जी वाले से लेते हैं

 

-सड़क पर ठेली पर मिलने वाले प्लास्टिक वाले चाय के कप

 

 

-पानी की बोतल जो आप बाजार से खरीदते हैं

 

-कोल्ड ड्रिक्स की बोतल

 

 

-कोल्ड ड्रिंक की स्ट्रा

 

 

-ऑनलाइन शॉपिंग की वो पॉलिथीन जिसमें सामान पैक होकर आता है

 

-सड़क पर चाट पकोड़ी वाली प्लास्टिक की प्लेट

 

-जन्मदिन पर केक के साथ मिलने वाला चाकू

 

-डिस्पोजेबल आइटम्स

 

 

-थर्मोकोल के सभी सामान

 

 

 

 

हमारे फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए अभी अपने फेसबुक पेज के ऊपर SEARCH में जाए और TYPE करें analjyoti.com और LIKE का बटन दबाए…

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Article पसंद आया तो इसे अभी शेयर करें…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »