Fri. Apr 3rd, 2020

कोरोना वायरस: सारी तैयारियां पूरी होने के बाद “डिप्टी कलेक्टर” ने अपनी शादी टाल दी

AJ डेस्क: कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और इसका असर लोगों की जिंदगी पर भी पड़ रहा है। ऐसा ही एक मामला झारंखड से सटे रायपुर से आया है जहां कोरोना वायरस की वजह से एक परिवार को घर में होने वाली शादी को टालना पड़ा है। रायपुर की डिप्टी कलेक्टर शीतल बंसल की शादी आज यानि 26 मार्च को होनी थी लेकिन कोरोना वायरस के चलते उन्होंने अपनी शादी टालने का फैसला लिया है।

 

 

समाज में पेश की मिसाल-

शीतल ने ऐसा कर देश के सामने एक उदाहरण भी पेश किया है। दरअसल सरकार ने देश में कोरोनोवायरस की स्थिति की गंभीरता को समझते हुए और इस खतरे को फैलने से रोकने के लिए सामाजिक समारोहों से बचने की अपील की थी। अब रायपुर में दो परिवारों ने अपने बच्चों की शादी को रद्द करने का एक साहसिक निर्णय लिया है। दोनों परिवारों ने यह निर्णय ऐसे समय में लिया जब पहले से वो तैयारियों पर काफी पैसा खर्च कर चुके थे।

 

 

 

कोरोना के चलते लिया निर्णय-

शीतल बंसल अभनपुर के जनपद पंचायत की डिप्टी कलेक्टर और सीईओ हैं और उनकी शादी 26 मार्च को आईएफएस अधिकारी आयुष से होनी थी लेकिन उन्होंने कोरोनोवायरस के डर से दोनों परिवारों ने समारोह को स्थगित करने का फैसला किया। इस निर्णय के बारे में शीतल ने बताया, ‘जैसे ही हमने तेजी से फैलते संक्रमण के बारे में पढ़ा और मामलों की बढ़ती संख्या को देखा तो हमने महसूस किया कि हमें शादी की तारीख को स्थगित कर देना चाहिए। यह निर्णय हमारे परिवार के सदस्यों की सुरक्षा के लिए बहुत महत्वपूर्ण था और सरकार के निर्देश भी।’

 

 

शीतल बोली- हमें करना पड़ेगा जागरूक-

जनपद पंचायत के सीईओ होने के नाते होने वाली दुल्हन ने कहा, ‘हम स्वास्थ्य संकट के बारे में ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता पैदा करने की भी कोशिश कर रहे हैं। मैंने इतने सालों में कभी ऐसा कुछ नहीं देखा। संक्रमण बहुत तेजी से फैल रहा है। इसलिए, स्थिति की गंभीरता को समझना हमारे लिए महत्वपूर्ण था। हमें सरकार के निर्देशों का गंभीरता से पालन करना चाहिए।’

 

 

मुश्किल भरा था फैसला-

शीतल ने कहा कि उनके परिवार को शादी की तारीख को स्थगित करने में थोड़ी परेशानी का सामना करना पड़ा क्योंकि शादी के वेन्यू, खानपान, गेस्ट हाउस, मण्डप और अन्य आवश्यकताओं सहित सभी चीजों को अंतिम रूप दे दिया गया था। उन्होंने बताया, ‘यह बहुत मुश्किल था। दो-तीन दिनों के लिए, हमने सोचा कि क्या करना है। सब कुछ तैयार था। शादी के कार्ड एक महीने पहले ही वितरित कर दिए गए थे। रिश्तेदारों के टिकट बुक हो चुके थे और आज वे आने वाले थे। कुछ तो पहले ही आ गए थे। लेकिन फिर हमारे दोनों परिवारों ने मुलाकात की और शादी को स्थगित करने का फैसला किया।’

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Article पसंद आया तो इसे अभी शेयर करें…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »